#योगेन्द्र की पंक्तिया

“ये वक्त है बेवक्त, यूँ ही चले आते है

पता ही नहीं चलता, कब कुछ कह जाते है”

समय क्या कह रहा है, इसे समझो….

13470cookie-check#योगेन्द्र की पंक्तिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *